‘राम तेरी गंगा मैली’ की मंदाकिनी को सफेद साड़ी में भीगकर एक्सपोज़ करने का नहीं था पछतावा, बोलीं- तो क्या हुआ…

1985 में आई फिल्म‘राम तेरी गंगा मैली हो गई’ ने मंदाकिनी को रातों रात हीरोइन बना दिया. फिल्म में मंदाकिनी का एक सीन था जिस पर खूब बवाल भी हुआ था. वो था झरने के नीचे सफेद पतली साड़ी में भीगकर बदन दिखाना. फिल्म का एक गाना ‘तुझे बुलाएं मेरी बांहें’ में मंदाकिनी को गीली साड़ी में देखने के लिए लोगों ने कई बार इस वीडियो को देखा था.

इस बारे में एक इंटरव्यू के दौरान जब मंदाकिनी से पूछा गया कि आपको इरोटिक सीन देने पर कोई पछतावा है.इस पर मंदाकिनी ने कहा था पछतावा कैसा? ये मेरी खुशनसीबी है. उस सीन की वजह से मेरे फैंस मुझे याद करते हैं. ये अलग बात है कि कुछ अच्छा कहते हैं. कुछ मजाक उड़ाते हैं. लेकिन मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. मंदाकिनी ने कहा कि उन्हें राजकपूर के साथ काम करने का मौका मिला इस बात की उन्हें खुशी है.

बता दें, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद के संग कथित रिश्ते को लेकर भी मंदाकिनी चर्चा में रहीं. दोनों की साथ साथ तस्वीरें भी मीडिया में खूब छाईं. ऐसा बताया जाता है कि मंदाकिनी जब भी दुबई के दौरे पर होती थी, वो दाऊद के विला में ही स्टे करती थीं.

राज कपूर की फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली हो गई’ में सफेद साड़ी पहने झरने में नहाने वाली इस हिरोइन को लेकर दर्शक दीवाने हो उठे थे. मंदाकिनी ने 1990 में मर्फी बच्चे के साथ शादी कर ली थी. डॉ. काग्युर टी रिनपोचे ठाकुर 1970, 80 के दशक में मर्फी रेडियो के प्रिंट ऐड में नजर आते थे.

बर्फी फिल्म में इसी मर्फी बच्चे का जिक्र आता है. ठाकुर ने बाद में बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया और बौद्ध भिक्षु बन गए. फिर मंदाकिनी के पति भी.

हांलाकि उन्होंने धार्मिक रास्ता नहीं छोड़ा. इन दोनों के दो बच्चे हुए. बेटा रब्बील और बेटी राब्जे. रब्बील का 2000 में एक सड़क एक्सिडेंट में निधन हो गया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!