गोरे रंग के कारण ‘भाभी जी’ को बॉलीवुड फिल्मों में नहीं मिला था काम, खुद बताई इंडस्ट्री छोड़ने की ये वजह

हिंदी सिनेमा जगत हो या आम जगत हो सभी जगह स्किन कलर को लेकर भेदभाव जरूर किया जाता है. लेकिन जिंदगी में एक ना एक बार तो हम सभी को अपने स्किन कलर को लेकर ताना सुनना ही पड़ता है. लेकिन आपने यह जरूर देखा होगा कि जो इंसान गोरा होता है उसको हर जगह महत्व दिया जाता है लेकिन जिस इंसान का रंग थोड़ा सांवला होता है उसको हर जगह भेदभाव का सामना करना पड़ता है. हमारे भारतीय समाज में जो व्यक्ति गोरा है केवल वही सुंदर है.

वैसे आपने कई बार देखा होगा कि हिंदी सिनेमा जगत में कई लड़कियों को सिर्फ इसलिए काम नहीं दिया जाता क्योंकि उनकी स्किन का कलर सावला होता है. लेकिन ऐसा केवल हमारे देश भारत में ही नहीं होता लगभग सभी देशों में ऐसे ही स्किन कलर को लेकर भेदभाव किया जाता है.

गौरतलब है कि आपने यह तो बहुत बार सुना होगा कि किसी को उसके सावले रंग के चलते काम नहीं मिला. लेकिन क्या कभी आपने कोई ऐसी बात सुनी है कि किसी को ज्यादा गोरा होने की वजह से हिंदी सिनेमा जगत में काम नहीं मिला. लेकिन यह बात बिल्कुल सच है. एक जानी-मानी अभिनेत्री ऐसी है जिनको ज्यादा गोरा होने की वजह से काम नहीं मिला था.

भाभी जी घर पर है मैं गोरी मेम का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस को तो आप सब लोग भली भांति जानते हैं. अगर अभिनेत्री की रियल नेम की बात करें तो इस अभिनेत्री का असली नाम सौम्या है. बता दे अभिनेत्री द्वारा एक इंटरव्यू के दौरान खुद इस बात का खुलासा किया गया था कि कैसे एक बार उनका गोरा होना उनके लिए मुसीबत बन गया था.

जानकारी के लिए बता दें सौम्या ने एक इंटरव्यू के दौरान खुद इस बात का खुलासा करते हुए कहा था कि उनको गोरा होने की वजह से कई बार काम नहीं मिला. दरअसल बात कुछ ऐसी है कि अभिनेत्री किसी इंटरनेशनल प्रोजेक्ट में भारतीय महिला का किरदार निभाने के लिए ऑडिशन देने गई थी. जब सौम्या ऑडिशन दे रही थी तो देखा गया कि वह हद से ज्यादा गोरी है लेकिन है वह एक भारतीय ही. तो अभिनेत्री को यह रोल देने से साफ तौर पर मना कर दिया गया और मना करते हुए उन लोगों का कहना था कि हम एक इंडियन लड़कियों को इतना गोरा नहीं दिखा सकते.

इसके बाद अभिनेत्री ने इस बात का भी खुलासा किया कि उन लोगों ने यह भी कहा कि उन्हें इस बात पर विश्वास नहीं है कि आप एक भारतीय है जो कि आम तौर पर भारतीय इतने बुरे नहीं होते केवल वेस्टर्न कंट्री में ही इतनी गोरी लड़कियां होती है. उनका मानना था कि इंडियन लड़कियों की स्किन कलर साबला होता है. उन लोगों के अनुसार इंडिया पाकिस्तान और बांग्लादेश सांवली स्किन वाली वाले लोग रहते हैं. इन्हीं कारणों के चलते रहे अपने इस प्रोजेक्ट में इतनी गोरी लड़की को रोल नहीं दे सकते.

भारतीयों की सोच पर एक्ट्रेस ने आगे बात करते हुए कहा कि भारत में लोगों का मानना है कि केवल गोरी स्किन वाली लड़कियां ही खूबसूरत होती है लेकिन ऐसा नहीं सभी कलर खूबसूरत है. उन्होंने आगे कहा कि विदेश में लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि भारत के पंजाब हरियाणा और कश्मीर इन सभी जगह पर ज्यादातर लड़कियों की स्क्रीन का कलर गोरा है.

बता दे अनीता ने अपनी करियर की शुरुआत 2015 मैं भाभी जी घर पर हैं सीरियल से की थी इस सीरियल के जरिए उन्होंने लोगों का खूब मनोरंजन किया और काफी लोकप्रियता हासिल की. 5 साल तक सीरियल में अहम किरदार निभाने के बाद उन्होंने 2020 में सीरियल को अलविदा कह दिया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Primes Times अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!