4 साल की कड़ी मेहनत 700 से ज्यादा इंटरव्यूज और 5000 घंटे की रिसर्च से बनी है द कश्मीर फाइल्स

अगर आप से सवाल किया जाए कि इन दिनों आप सबसे ज्यादा किस चीज की चर्चा सुन रहे हैं. तो निश्चित ही आपका जवाब द कश्मीर फाइल्स का होगा. जी हां द कश्मीर फाइल्स हर तरफ चर्चा का विषय बनी हुई है. जहां अखबारों में इस फ़िल्म को लेकर हजारों वर्ड के लेख छपते हैं तो दिन भर टीवी पर इस फ़िल्म से जुड़ी खबरें ही चलती रहती हैं इस फिल्म को साल 1990 में हुए विद्रोह की कहानी के ऊपर बनाया गया है.

और यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी ताबड़तोड़ कमाल कर रही है. लेकिन क्या आप जानते हैं इस फिल्म को बनाने में मेकर्स को कितनी मेहनत करनी पड़ी है अगर नहीं जानते तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ लीजिए. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विवेक अग्निहोत्री ने इस फिल्म की मेकिंग को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा किया था उन्होंने कहा था कि इस फिल्म को बनाने में उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी है. इस फिल्म को बनाने में सबसे बड़ी चुनौती हमारे सामने रिसर्च की थी हमें पता ही नहीं चल रहा था कि हम इस फिल्म के लिए रिसर्च कहां से करें.

 

हमने इस फिल्म के लिए 5000 घंटे की रिसर्च की है और इसके लिए कई सारे इंटरव्यूज किए हैं. हम ने इसके लिए कम से कम 15000 डॉक्यूमेंट इकट्ठा किए थे और सभी डॉक्यूमेंट को अलग-अलग तरीके से स्टडी करने की योजना बनाई थी इतना ही नहीं हम लोगों ने कश्मीरी पंडितों के लोगों के 700 से ज्यादा इंटरव्यूज रिकॉर्ड किए थे जो लोग इस हिंसा का शिकार हुए थे और इस दौरान जिन्हें परेशानियां हुई थी. जिन 700 लोगों के इंटरव्यू हमने रिकॉर्ड किये थे अगर कोई उन्हें सबूत के तौर पर उनको मांगता है तो हम उसे दिखाने के लिए तैयार हैं.

इस फिल्म को बनाने में 4 वर्ष का समय लगा है. हमको छोटे-छोटे सीन को शूट करने के लिए बेहद बारीकी का ध्यान रखना पड़ता था आपको बता दें यह फिल्म साल 1990 में कश्मीरी पंडितों के साथ जो ज्यादती की गई थी उसके ऊपर बनाई गई यह फिल्म 11 मार्च को थियेटर्स लगी थी और अभी तक यह 150 करोड़ के आस पास का बिजनेस कर चुकी है और यह ब्लॉकबस्टर भी साबित हो चुकी है.

भले ही द कश्मीर फाइल्स फिल्म का ज्यादा प्रचार-प्रसार नहीं किया गया है. लेक़िन इसके बावजूद भी यह सबसे अधिक चर्चाओं में बनी हुई है और उसके सामने जो भी फिल्म रिलीज हो रही है उसको कमाई के मामले में पटखनी दे रही है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Primes Times अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!